चुनाव से पहले मायावती ने मुसलमानों से की अपील, कहा- खुद आगे आएं और अयोध्या में राम मंदिर बनवाएं

बीते कुछ सालों में भारत के समाज में ख़ासा बदलाव आया है. यूँ तो दुनिया भर में हमारे देश को भाईचारे और एकता की मिसाल के तौर पर देखा जाता था लेकिन अज लगता है कि हालात बदला से गए हैं. इन दिनों देश की सियासत ने हमारी गंगा जमुनी तहजीब को तोड़ मरोड़ दिया है और सियासत अब सॉफ्ट हिंदुत्व का कार्ड खेलने लग गई है.

फिलहाल देश में होने वाले आगामी लोकसभा चुनाव में अब ज्यादा वक़्त नहीं बचा है और इसके मद्देनज़र सभी पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है.एक तरफ जहाँ भाजपा एक बार फिर से मोदी लहर के सहारे सत्ता में वापसी करना चाहती है तो दूसरी तरफ विपक्षी पार्टियाँ भाजपा से मुकाबला करने के लिए एकजुटता की बात कर रही हैं.

ऐसे में अब बिहार की तर्ज पर महागठबंधन की बात की जा रही है लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि अब सियासी पार्टियाँ हिन्दू वोटों को अपने पक्ष में लाने के लिए कोई मौका नहीं छोड़ रही हैं. पहले से यह आरोप भाजपा पर लगता था लेकिन अब लगता है कि कमोबेश सभी पार्टियाँ इसी लाइन पर चलने लगी है.

इस बीच बसपा चीफ मायावती का बड़ा बयान आया है. मायावती ने राम मंदिर पर ऐसा बयान दिया है, जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी. इस मुद्दे को लेकर उन्होंने मुसलमानों से अपील की है. उन्होंने कहा है कि अयोध्या में जन्मभूमि पर मंदिर बने और अगर मुसलमान खुद बनवाते हैं तो बरसों से उन पर उठ रही अंगुलियां झुक जाएंगी.बता दें कि मायावती का यह बयान चुनाव से ठीक पहले है आया है. ऐसे में कहा जा रहा है कि इस बयान के ज़रिये मायावाती हिन्दुओं का वोट हासिल करना चाहती हैं.

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password