विचार articles

_76816201_116449611

जेलों के भीतर बहुसंख्यक बनते मुसलमान

जेलों के भीतर बहुसंख्यक बनते मुसलमान

लेख: रुखसार वसीम प्रसिद्ध राजनीतिक दार्शनिक जे. एस. मिल का ये कथन बेहद लोकप्रिय है की ” बहुमत की तानाशाही में अल्पसंख्यकों की स्वतंत्रता नष्ट हो जाती है” ये कथन भारतीय मुसलमानों पर बेहद सटीक बैठता है क्योंकि भारतीय धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र में सरकारी सेवाओं, संसद और विधानसभा में मुसलमानों का प्रतिनिधित्व भले ही काफी कम

muslims-generic-759

मुसलमानों को मज़हब से जोड़ कर अनदेखा किया जा रहा है

ऋषभ प्रतिपक्ष उत्तराखंड में मुस्लिम कर्मचारियों के नमाज के लिए स्पेशल छुट्टी देने की घोषणा हुई. बहुत सारे लोगों ने पूछना शुरू किया कि बाकी धर्मों से भेद-भाव क्यों. क्या बाकी की पूजा महत्त्वपूर्ण नहीं है. मुस्लिमों के साथ स्पेशल व्यवहार क्यों किया जा रहा है. लोग कहने लगे कि मुस्लिम तुष्टिकरण बहुत पहले से

Lucknow: Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav addresses after distribution of ration cards under the National Food Security Act at CM residence in Lucknow on Wednesday. PTI Photo by Nand Kumar  (PTI10_19_2016_000081B)

समाजवादी पिता का ‘अखिलेशवादी’ बेटा

पता नहीं समाजवादी पार्टी सुप्रीमो एक पिता की हैसियत से बेटे की मोहबत में ‘हार’ गए या जवान बेटे ने राजनति में अपने बूढ़े पिता को ‘पछाड़’ दिया. यूपी में टिकेट के मामले को लेकर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने अपने पुत्र मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और भाई रामगोपाल यादव के सपा से निष्कासन के

55

समान नागरिक संहिता: क्या युधिष्ठिर लौटेंगे?

गांंधी बनें कम्युनिस्ट/ कम्युनिस्ट बनें गांधी हिन्दू बनें मुसलमान/ मुस्लिम बनें हिंदू स्त्री में पौरुष / पुरुषों में संयम इससे भी आगे बढ़ें। -भवानी प्रसाद मिश्र पिछले कुछ अर्से से मुस्लिम समाज में पैठ जमा चुका तीन तलाक नामक नासूर अब संक्रामक हो गया है। भारत सरकार ने समान नागरिक संहिता के सवाल को आधिकारिक

talaq

रवीश का प्राइम टाइम इंट्रो : क्या हर समुदाय का अलग पर्सनल लॉ हो?

( ये लेख रवीश कुमार का प्राइम टाइम इंट्रो है. यक़ीन है कि आप लोगों में से अधिकतर लोगों ने इसे खुद रवीश की ज़बान से सुना होगा. रवीश रवीश हैं, बेहद अच्छा लिखते और बोलते हैं. सबसे बड़ी और असल बात ये है कि वो सच बोलते हैं. हम रवीश के इस प्राइम टाइम

freedom-kanaiya+ritwick-1-2-1_650_081616081805

”जेल की कोठरी के मुकाबले बाहर की दुनिया एक बड़े कैदखाने की तरह है”

कन्हैया कुमार यह तो मैं ठीक-ठीक नहीं बता सकता कि राजनीति से मेरा परिचय कब हुआ. मैं उस वंचित तबके से आता हूं, जहां बचपन से ही भेदभाव के प्रति जागरूकता आ जाती है. हो सकता है यह तब की बात हो, जब मैं हॉफ पैंट पहनता था और उन लड़कों की तरह होना चाहता

150602052140_priyanka_gandhi_with_rahul_and_sonia_gandhi_624x351_ap

क्या कांग्रेस की क्लीनिकल डेथ हो चुकी है?

यावर रहमान जब पिछले लोक सभा चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ होने लगा तो कुछ लोगों ने कहा कि 130 साल पुरानी कांग्रेस बूढी हो गई है. कुछ लोगों ने सोचा इस बूढ़े बदन में दम तो नहीं बचा, पर हाथी मरने के बाद भी सवा लाख का होता है. मोदी सरकार के इन

22drought1

सूखे की मार ! ज़िम्मेदारी केवल सरकारों की नहीं, हमारी भी है

मोहम्मद आसिफ इकबाल आजकल जिस तरह देश के विभिन्न राज्यों में पानी की कमी एक महत्वपूर्ण मुद्दा बना हुआ है अगर उस पर ध्यान नहीं दिया गया तो संभव है निकट भविष्य में देश वासी अधिक समस्याओं का सामना करने के लिए मजबूर हो जाएं। इसलिए इस समस्या को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। इसके

Nitish-announces-liquor-ban-in

बिहार: शराबबंदी में महिलाओं की सक्रिय साझेदारी

अपने राज्य बिहार में शराब पर सम्पूर्णरूप से पाबन्दी लगा कर राज्य के मुख्या नितीश कुमार ने उन पडोसी राज्यों के लिए भी चुनौती खड़ी कर दी है जो ऐसा करने का साहस नहीं जुटा पाते. नितीश का कहना है,” यहां से निकलनेवाली आवाज वहां भी पहुंचेगी.उन्हें भी ऐसा निर्णय लेना ही होगा. वैसे हमने

Drunk-man-in-poland

बिहार में शराब पर पाबन्दी ? भैया, देसी मत पियो, अंग्रेजी पी लो !

बिहार में शुक्रवार से शराबबंदी का पहला चरण शुरू हो रहा है. बुधवार को बिहार विधानमंडल ने बिहार उत्पाद (संशोधन) विधेयक, 2016 सर्वसम्मति से पारित कर दिया. सरकार ने शराबबंदी पर अमल के लिए क़ानून में बदलाव किए हैं और इन्हें लागू करने की तैयारी भी की है. 1. नए क़ानून के तहत गांवों में

Top Lingual Support by India Fascinates