यूपी चुनाव में वोट मांगने वाला हर तीसरा प्रत्याशी रेप, हत्या और अपहरण जैसे गंभीर मामलों का है मुल्ज़िम

M_Id_442187_saifalikhan

लखनव: एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के सरवे के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में लड़ रहा हर तीसरा उम्मीदवार रेप, हत्या और अपहरण जैसे गंभीर मामलों सहित कई आपराधिक मुक़दमों का सामना कर रहा है. उत्तर प्रदेश एलेक्शन वाच एंड एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने 4,823 उम्मीदवारों के हलफनामों के विश्लेषण के आधार पर ये दावा किया है.

एडीआर के विश्लेषण के मुताबिक़ कुल 4,853 उम्मीदवारों में से 859 उम्मीदवारों, यानि 18 फीसदी के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए कुल 4,853 प्रत्याशी चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आज़मा रहे है. बता दें कि राज्य में सात चरण में हो रहा चुनाव आठ मार्च को मुकम्मल हो जाएगा.
g1

एडीआर के अनुसार , 704 उम्मीदवारों, यानि 15 फीसदी ने अपने हलफनामे में माना है कि उनके खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं. एडीआर ने बताया कि चुनाव आयोग की वेबसाइट पर करीब 31 उम्मीदवारों के हलफनामों के अस्पष्ट होने की वजह से उनका चुनावी विश्लेषण नहीं किया जा सका है.

अब अगर अलग अलग पार्टियों के हवाले से देखा जाए तो इस फेहरिस्त में मायावती की बहुजन समाज पार्टी सबसे ऊपर है. यानि बसपा के 400 में से 150 उम्मीदवारों करीब 40 फीसदी, बीजेपी के 36, सपा के 37 और कांग्रेस 32 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. और अगर अपराध के गंभीर आरोपों की बात करें तो बसपा के 31, सपा के 29,बीजेपी के 26 और कांग्रेस के 22 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर मामले दर्ज हैं.

admin

Top Lingual Support by India Fascinates