एक्शन में आते ही मुख्यमंत्री योगी ने अपने मंत्रियों को दी ज़बान संभाल कर बोलने की सलाह

adityanath_660_031817063028

लखनऊ: योगी आदित्यनाथ ने रविवार को उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेते ही पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नई सरकार की प्राथमिकताओं का ज़िक्र करते हुए कहा कि उनकी सरकार राज्य में कानून-व्यवस्था दुरुस्त करने और तमाम शहरियों के विकास के लिए काम करने की पाबंद है. साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने अपनी नई नवेली सरकार की ओर से पांच बड़े ऐलान किए. और अपने मंत्रियों को सलाह दी कि वे ज़बान संभाल कर बयानात दें.

राज्य की राजगद्दी पर बैठते ही योगी ने रविवार को अपने मंत्रियों के साथ अनौपचारिक मीटिंग की. इस दौरान योगी ने अपने सभी मंत्रियों को 15 दिन के भीतर प्रॉपर्टी का पूरा ब्यौरा सार्वजनिक करने हुक्म सादिर किया. और साफ तौर पर वार्निंग दी कि भ्रष्टाचार के मामलों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

योगी की उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर सृजित करने का ऐलान भी किया. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बीजेपी अपने किये गए वादे पूरे करने की पाबंद है.

अपने तीखे और विवादस्पद बयानों से पहचाने जाने वाले मुख्यमंत्री बन चुके योगी ने अपने मंत्रियों को अनाप-शनाप बयानों से दूर रहने की ताकीद की. साथ ही योगी ने अपने दो मंत्रियों श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थ नाथ सिंह को यूपी सरकार का प्रवक्ता नियुक्त किया है. ये दोनों नेता पार्टी के दिल्ली मुख्यालय में मीडिया सेल के प्रभारी रह चुके हैं.

सीएम योगी ने ऐलान किया कि खेती को यूपी के विकास का आधार बनाया जाएगा और किसानों के विकास का मुद्दा सरकार की प्राथमिकता में शामिल होगा. आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि उनकी सरकार ग्रामीण इलाकों के विकास के लिए अलग से योजना बनाकर काम करेगी.

admin

Top Lingual Support by India Fascinates